Breaking News

div id='beakingnews'>Breaking News:
Loading...

जर्जर भवन में पढ़ने को विवश है उच्च विद्यालय के बच्चे

जर्जर भवन में पढ़ने को विवश है उच्च विद्यालय के बच्चे

कमरे में बारिश का टपक रहा पानी


मयूरहंड : प्रखंड मुख्यालय स्थित स्वामी विवेकानंद उच्च विद्यालय में पढ़ने वाले छात्र व छात्रा विद्यालय भवन के जर्जर कमरों में बैठ कर पढ़ने को विवश है। विद्यालय भवन के कई कमरों से बारिश का पानी टपक रहा है। पानी के लगातार टपकने से कक्षा में पानी जम गया है। जहाँ बच्चों को बैठने में परेशानी झेलनी पड़ रही है। कमरे में रखे बैंच व डेस्क भी पानी में भींगने के कारण ख़राब होते जा रहे है। विद्यालय भवन की छत की स्थिति भी जर्जर हो गयी है। बारिश के पानी के कारण भवन में कई जगहों पर दरार भी पड़ गया है। जिससे कभी भी बड़ी दुर्घटना घटने से इंकार नहीं किया जा सकता है। विद्यालय के प्रधानाध्यापक रमाकांत तिवारी ने बताया की विद्यालय भवन के कमरे के साथ साथ भवन की स्थिति भी ठीक नहीं है। भवन में बने खिड़की का लगभग छजजा टूट कर गिर चुका है। विद्यालय भवन का निर्माण वर्षो पूर्व हुआ है। भवन के निर्माण के बाद से एक बार भी भवन की मरम्मति नहीं कराई गयी है। जिसके कारण भवन दिन प्रतिदिन जर्जर होता जा रहा है। विद्यालय भवन की मरम्मति को लेकर विभाग को जानकारी दी गयी है। परन्तु अभी तक विभाग का ध्यान इस पर नहीं जा सका है। जानकारी के अनुसार विद्यालय में कुल 325 बच्चे अध्ययनरत है। विद्यालय के लगभग कमरे जर्जर है। विद्यालय में आस पास के दर्जनों गाँवो के बच्चे पढ़ते हैं। इसी विद्यालय में प्लस टू की भी पढाई होती है। जिसके कारण बच्चों के बैठने को लेकर समस्या उत्पन हो रही है। बताते चले की मैट्रिक की परीक्षा को लेकर इसी विद्यालय को परीक्षा केंद्र भी बनाया जाता है। इस विद्यालय में प्रखंड के सभी उच्च विद्यालय के बच्चे मैट्रिक की परीक्षा भी लिखते है। इसके बावजूद विद्यालय भवन को दुरुस्त करने को लेकर विभाग ने अभी तक कोई पहल नहीं की है। मरम्मति नहीं होने से भवन जर्जर होता जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं