Type Here to Get Search Results !

बारिश के अभाव में परती रह गयी उपजाऊ भूम

बारिश के अभाव में परती रह गयी उपजाऊ भूम
मयूरहंड : प्रखंड के कई गाँवो की उपजाऊ भूमि समय से बारिश नहीं होने के कारण परती ही रह गयी है। जिस भूमि पर पहले धान की झूलती बालियां किसानों के मन को गदगद करती थी। वही भूमि आज बारिश नहीं होने के कारण बंजर अवस्था में पड़ी है। किसान हर वर्ष इस उम्मीद के साथ रहते है की इस वर्ष अच्छी बारिश होगी को जमकर खूब खेती करूँगा। परन्तु इंद्र भगवान के रुष्ठ होने के कारण किसानों के उम्मीदों पर पानी फिरता जा रहा है। किसान कर्ज लेकर धान फसल के लिए धान के पौधे तैयार करते है। लेकिन समय से बारिश नहीं होने कारण बोवाई नहीं कर पाते है। जिसके कारण किसान कर्ज में डूबते चले जा रहे है। बताते चले की पिछले कई वर्षो से किसान सुखाड़ की मार झेलने को मजबूर है। किसान नवल यादव ने बताया की तैयार धान के बिछड़े को बारिश के अभाव के कारण खेतो में नहीं लगा पाया हूँ। मजबूरन धान के बिचड़े को मवेशियों को खाने के लिए डाल दिया हूँ। हम सभी बारिश के पानी पर निर्भर रहते है। जानकारी के अनुसार कदगांवा कला पंचायत,बेलखोरी पंचायत,मयूरहंड पंचायत की लगभग उपजाऊ भूमि पहले की तहत इस वर्ष भी परती ही पड़ी है। बाकि पंचायतों में भी धान की बुवाई नाम मात्र ही हो पाई है। किसानों ने बताया की सरकार ने पिछले कई वर्षो से सुखाड़ की राशि भी उपलब्ध नहीं करा पाई है। ऐसे में रवि फसल लगाने को लेकर भी राशि का अभाव झेलना पड़ रहा है।

एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.