Breaking News

div id='beakingnews'>Breaking News:
Loading...

दूध से महंगा हुआ पशु आहार,गाय पालक गाय बेचने पर है मजबूर




दूध से महंगा हुआ पशु आहार,गाय पालक गाय बेचने पर है मजबूर




मयूरहंड : प्रखंड के दर्जनों गांव दूध उत्पादन को लेकर जिला में पहचान तक बना चुके है। प्रखंड के विभिन्न गांवो से कई सौ लीटर दूध प्रतिदिन निर्यात किया जाता है। जिससे कई परिवारों का भरण पोषण होता है। छोटे से लेकर बड़े परिवार दूध उत्पादन को ही मुख्य श्रोत मानकर जी जान से लगे है। फिलहाल प्रखंड के सभी गांवो में दूध पर्याप्त मात्रा में हो रही है। जानकारी के अनुसार फुलांग,पंदनी,मनहरी,महुगाई,महुवरी,मयूरहंड,कदगांवा खुर्द,एकतारा सहित दर्जनों गांव दूध उत्पादन को लेकर अपनी पहचान बना चुके है। धीरे धीरे यह व्यवसाय कुटीर उद्योग का रूप ले लिया है। वही एक तरफ फलते फूलते व्यवसाय को पशुपालक छोड़ने का मन बना रहे है। पशु पालको की माने तो दूध से महंगा पशुओ का चारा हो गया है।  जो बजट से बाहर होता जा रहा है। पशु पालक सह सफल किसान पिंटू सिंह ने बताया पशु चारा इंसानो के चारे से अधिक महंगा हो गया है। जो चोकर को कुछ माह पहले बारह सौ में मिला करता था वही आज सोलह सौ में मिल रहा है। जो पशुपालको को बहुत ज्यादा प्रभावित कर रहा है। सिंह ने बताया की दूध की कीमती नहीं के बराबर ही पशुपालको को मिल यही है। जिससे पशु पलको में असंतोष व्याप्त है। पशुपालक अब गाय व भैंस बेचने का मन बना रहे है। कई पशुपालक तो अपने पशुओ को बेच तक दिए है। वही चंद्रदीप यादव ने बताया की दूध की सही कीमत नहीं मिलने से दुधारू पशु पालना टेडी खीर बनती जा रही है। दूध निर्यात का कोई बड़ा बाजार नहीं है। कुछ दूध की कंपनियां दूध को कूड़े के भाव में ले जाती है। दूध से मिलने वाली राशि पशुओ को खिलाने तक भी नहीं हो पाती है। जिसके कारण दुधारू पशु रखना अब बहुत कठिन हो गया है। किसान बड़ी उम्मीद से दूध उत्पादन को लेकर आगे आए थे। लेकिन दूध की सही कीमती नहीं मिलने से पशुपालकों के सामने घोर समस्या उत्पन हो गयी है।


डीलर के अनिमियता को ले बीडीओ से मुखिया ने की शिकायत


मयूरहंड : वैश्विक महामारी घोषित होने के बाद सरकार ने सभी जनवितरण प्रणाली दुकानदारों को अपने अपने लाभुकों क्व बीच ईमानदारी पूर्वक अनाज का वितरण करने का निर्देश दिया था। वही जिला के उपायुक्त जितेंद्र कुमार सिंह ने भी सभी डीलरों को पूरी ईमानदारी से खाद्यान वितरण करने को लेकर सख्त निर्देश दिया था। परंतु डीलरों के द्वारा सभी फरमानों को दरकिनार कर मनमानी करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे है। प्रखंड के कदगांवा कला पंचायत के धनगांवा गांव के डीलर किरण देवी पर पंचायत के मुखिया बबिता कुमारी ने लाभुकों को कम अनाज देने व बिना तेल का वितरण किए कार्ड पर चढाने को लेकर प्रखंड विकास पदाधिकारी सह प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी संतोष कुमार से शिकायत की है। मुखिया ने बताया की शिकायत करने के बावजूद पदाधिकारी के द्वारा कोई कार्यवाही डीलर पर नहीं की गयी है। वही डीलर को लाभुकों के बीच वर्तमान माह का अनाज भी वितरण करने को लेकर फिर से आवंटित कर दिया गया है। जो उचित नहीं है। मुखिया ने बताया की यदि डीलर पर कार्यवाही नहीं हुयी तो इसकी शिकायत उपायुक्त से करूँगा। वही उन्होंने बताया की डीलर के द्वारा फिर से लाभुकों के बीच 2 से 3 किलोग्राम अनाज कम दिया जा रहा है।










कोई टिप्पणी नहीं