Breaking News

div id='beakingnews'>Breaking News:
Loading...

गांव में प्रवेश वर्जित है

गांव में नहीं जाना है। .....

मयूरहंड : गांव में प्रवेश वर्जित है। गांव में जाना है तो लॉग डाउन ख़त्म होने के बाद आना। कुछ इस तरह की बात गांव में प्रवेश करने वाले बाहरी लोगो से ग्रामीण कर रहे है। यह किस्सा है थाना क्षेत्र के परसावा गांव का। गांव के ग्रामीणों ने गांव के मुख्य सड़क पर बैरियर लगा कर दूसरे गांव से आने वाले लोगो के लिए मार्ग बंद कर दिया है। ग्रामीण प्रदीप सिंह ने बताया की बाहर से आने वाले अपने लोगो को भी गांव में प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। उन सभी को 14 दिनों तक क्रोटाइन को लेकर पंचायत सचिवालय में रखा जाता है। उसके बाद गांव में प्रवेश दिया जाता है। वही गांव से बाहर निकलने वाले लोगो को बैरियर से पहले सेनेटाइज करके ही दुबारा गांव में प्रवेश दिया जाता है। बारी बारी से गांव के ग्रामीणों की डयूटी बैरियर पर लगायी जाती है। वही गांव के लोग एक दूसरे के घरों में भी नहीं जाते है। सिंह ने बताया की लॉग डाउन लगने के बाद गांव के ही वृद्ध व्यक्ति का निधन हो गया था। निधन के बाद पीड़ित परिवार ने गांव के ग्रामीणों के साथ बैठक कर सभी तरह के श्राद्ध कार्यक्रम नहीं करने का निर्णय लिया था। जिसे सभी ने सराहा था। वही ग्रामीणों ने तेजी से फैलते कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर ये कदम उठाया है।

कोई टिप्पणी नहीं