Breaking News

div id='beakingnews'>Breaking News:
Loading...

जरूरतमंद लोगो तक नहीं पहूंच रहा दीदी किचेन का लाभ...

Aakashji mahurhund: जरूरतमंद लोगो तक नहीं पहूंच रहा दीदी किचेन का लाभ...

मयूरहंड : कोरोना महामारी को लेकर देश भर में लॉक डाउन कानून लगाया गया है। लोगो को किसी भी शर्त में घर से  निकलने पर पाबंदी लगायी गयी है। ताकि इस महामारी को जल्द से जल्द अपने देश से भगाया जा सके। सरकार के द्वारा सभी पंचायतों में असहाय,गरीब व जरूरतमंदों को निःशुल्क भोजन उपलब्ध कराने को लेकर दीदी किचेन जैसी योजना धरातल पर उतारा है। ताकि इस दौर में कोई भूखा नहीं सो पाए। परन्तु प्रखंड के कदगांवा कला पंचायत में संचालित दीदी किचेन केवल खानापूर्ति में लगा है। दीदी किचेन का संचालन जेएसएलपीएस के द्वारा किया जा रहा है।  बताते चले की कदगांवा कला पंचायत अनुसूचित जाति बहुल पंचायत हैं। पंचायत में कुल 24 गांव आते है। मगर दीदी किचेन का लाभ मात्र दो गांवो के कुछ ही लोगो को मिल रहा है। बाकी 22 गांव के लोगों के बीच दीदी किचेन का लाभ नहीं पहूंच पा रहा है। इधर पंचायत की मुखिया बबिता कुमारी ने बताया की दीदी किचेन को पंचायत भवन में संचालित करने की बात दीदी किचेन के संचालक से की गयी थी। वही लाभान्वित होने वाले लोगो की सूची की भी मांग की गयी थी।  परंतु अभी तक संचालक के द्वारा सूची तक उपलब्ध नहीं कराया जा सका है। दीदी किचेन के नाम पर केवल खानापूर्ति ही की जा रही है। दीदी किचेन की संचालक कमाता कुमारी ने बताया कि प्रतिदिन 25 किलो चावल बनाया जाता है।

"मुझे जनकारी नहीं है की दीदी किचेन से कितने लोग लाभान्वित हो रहे है। जेएसएलपीएस के बीपीएम को निर्देश दिया गया है की पंचायत के जरूरतमंदों को इसका लाभ दिलाया जाए। वही लाभान्वित होने वालो की सूची की मांग भी की गयी है -संतोष कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी ,मयूरहंड"

कोई टिप्पणी नहीं