Breaking News

div id='beakingnews'>Breaking News:
Loading...

बिजली की चपेट में आने से मवेशी की मौत,बाल बाल बचा युवक , आकाश सिंह



ग्रामीणों ने दो घण्टे तक जेई को बनाया 

मयूरहंड : प्रखंड के गम्हरिया गांव निवासी प्यारी यादव के बैल की मौत शनिवार को गांव में लगे ट्रांसफर्मर के टाना के चपेट में आने से हो गयी। वही बैलों को ले जाते 12 वर्षीय बालक बाल बाल बच गया। जानकारी के अनुसार किसान का पुत्र अपने दो मवेशी को चरने के लिए अपने खेत के पास ले जा रहा था। तभी सड़क के किनारे पर लगा ट्रांसफर्मर के ताने के पास एक बैल घास खाने के चक्कर में चल गया। टाने के संपर्क में आते ही एक बैल घटना स्थल पर मर गया। वही एक अन्य बैल व बच्चा किसी प्रकार अपना जान बचा पाए। बैल के मरने की खबर पुरे गांव में आग की तरह फ़ैल गयी। जिसके बाद ग्रामीणों ने मयूरहंड से चौपारण जाने वाली सड़क को अवरुद्ध कर दिया। घटना की जानकारी मिलते ही जेई तरुण कुमार घटना स्थल पहूंचे। जहां ग्रामीणों ने जेई को बंधक बना लिया। जेई से बैल के बदले किसान को मुआवजा दिलाने की मांग करने लगे। साथ ही जर्जर तार व ट्रांसफर्मर से निकले टाने को तुरंत बदलने की मांग पर अड़ गए। जिस पर जेई ने दो दिनों में जर्जर तार को बदलने का आश्वाशन दिया। वही किसान को अंचल से मुआवजा दिलाने की भी प्रक्रिया को पूर्ण कराने की बात कही। जिसके बाद ग्रामीणों ने  लगभग दो घण्टे के बाद जाम को हटाने के साथ जेई को मुक्त किया। भाजपा युवा नेता रूपेश सिंह ने बताया की बैल की मौत बिजली विभाग की लापरवाही से हुयी है। यदि ट्रांसफर्मर से टाना नहीं निकला गया होता तो बैल की मौत नहीं हुयी होती। सिंह ने बताया की किसान का पुत्र भी आज बाल बाल ही बच पाया है। नहीं तो बड़ी घटना घट गयी होती।

कोई टिप्पणी नहीं