Type Here to Get Search Results !

शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षण देने की रूपरेखा हुई तैयार _Mayurhand

जिला शिक्षा पदाधिकारी की निगरानी में शिक्षकों को डिजिटल तकनीक में दक्ष करने की मुहिम की हुई शुरुआत।

झारखंड शिक्षा परियोजना के द्वारा पीरामल फाउंडेशन के सहयोग से शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षण देने की रूपरेखा हुई तैयार।

==================================
 जिला शिक्षा पदाधिकारी, श्री जितेंद्र कुमार सिन्हा द्वारा ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम में जिला शिक्षा पदाधिकारी के द्वारा जानकारी दी गई कि वर्तमान वैश्विक महामारी के इस संकट काल में विद्यालयों के बंद रहने से बच्चों की पढ़ाई का एकमात्र साधन ऑनलाइन तरीके से पाठ्यक्रम आधारित डिजिटल शिक्षा उपलब्ध करवाना है तथा इसके लिए आवश्यक है कि जिले के शिक्षक भी डिजिटल तकनीकी में दक्ष हो, जिसका लाभ छात्रों को मिलेगा। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए झारखंड शिक्षा परियोजना के द्वारा नीति आयोग द्वारा चयनित पीरामल फाउंडेशन के सहयोग से पूरे झारखंड में शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षण देने की योजना तैयार किया गया है, जिसका नाम डिजिटल फैसिलिटेशन स्किल एंड फसिलिटेटिंग रिमोट लर्निंग रखा गया है।

आगे उन्होंने कहा कि इसी के तहत आज पीरामल फाउंडेशन के प्रोग्राम लीडर रवि प्रकाश गुप्ता के द्वारा जिले के चयनित 119 मास्टर ट्रेनर को ऑनलाइन तरीके से पहले मॉड्यूल "लाइव वेबीनार वेस्ड टीचिंग" से संबंधित विषयों पर प्रशिक्षण दिया गया है। इस क्रम में जिला स्तर पर मास्टर ट्रेनर का चयन किया गया है तथा इन चयनित मास्टर ट्रेनर के द्वारा 35 - 40 शिक्षकों की एक प्रोफेशनल लर्निंग कमेटी का गठन कर उन्हें प्रशिक्षित किया जाएगा, इससे लाभान्वित होने के उपरांत शिक्षक डिजिटल तरीके से विद्यार्थियों को पाठ्यक्रम आधारित विभिन्न विषयों पर लाभ दे पाएंगे।

 विदित हो कि इस प्रशिक्षण कार्यक्रम का एस०ओ०पी पीरामल फाउंडेशन के द्वारा तैयार किया गया। इसको कार्यरूप देते हुए मुख्य प्रशिक्षक की भूमिका रवि प्रकाश गुप्ता, प्रोग्राम लीडर  पीरामल फाउंडेशन ने निभाया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.