Type Here to Get Search Results !

एफसीआई की मनमानी के खिलाफ आमरण अनशन पर बैठे किसान_Mayurhand

धान उठाव व एफसीआई की मनमानी के खिलाफ आमरण अनशन पर बैठे किसान

आकाश सिंह

मयूरहंड : प्रखंड के किसानों ने धान क्रय व धान के उठाव में एफसीआई कर्मी के मनमानी करने एवम बिचौलिया वाद के खिलाफ शुक्रवार को प्रखंड कार्यालय परिसर में आमरण अनशन शरू किया। किसानों का लगभग दो सौ क्विंटल धान प्रखंड कार्यालय लैम्पस गोदाम परिसर खुले आसमान में रखा हुआ है,जो बारिश में भीगने से सड़ रहा है। किसानों में फरवरी माह में विभाग द्वारा प्राप्त एसएमएस के बाद किसानों ने अपना धान भारतीय खाद्य निगम के द्वारा खोला गया धान क्रय केंद्र में लाकर रख दिया था। जहां एफसीआई विभाग द्वारा प्रतिनियुक्त क्रय पदाधिकारी नामीत सिन्हा ने भंडारण की क्षमता कम होने तथा धान का उठाव नहीं होने का हवाला देकर किसानों का धान परिसर में रखा दिया।जिसके बाद किसान लगातार धान क्रय केंद्र पहुंचकर धान उठाव करने व पावती रसीद की मांग करते रहे। लेकिन  किसानों को पावती रसीद नही दी गयी और ना हीं धान का उठाव किया गया। वही 30 अप्रैल को समय सीमा समाप्त हो गया। जिसके विरोध में किसानों ने 5 मई को एक दिवसीय धरना प्रदर्शन प्रखंड कार्यालय में किया था। धरना को लेकर उपायुक्त दिव्यांशु झा के आदेश पर जिला खाद्य आपूर्ति पदाधिकारी अनिल कुमार यादव प्रखंड कार्यालय पहुंचकर किसानों से वार्ता कर लैम्पस परिसर में रखे सभी धान उठाव करने का आश्वासन किसानों को दिया था। धान उठाव को लेकर भारतीय खाद्य निगम ने अपने कर्मी बिपिन कुमार सिंह को प्रतिनियुक्त किया। परंतु एफसीआई कर्मी बिपिन सिंह बिचोलियों से मिली लालच में चिंहित किसानों का धान उठाव कर बाकी किसानों का धान उठाव नही करवाया। जिससे बाद से किसानों का दर्जन पैकेट खुले आसमान में रखे बर्बाद हो रहा है। किसानों के अनशन पर बैठने की सुचना पाकर उपायुक्त ने जिला खाद्य आपूर्ति पदाधिकारी अनिल कुमार यादव को किसानों से वार्ता करने के लिए भेजा। श्री यादव ने किसानों से वार्ता में बताया कि धान अधिप्राप्ति करने को लेकर केंद्र सरकार से पंद्रह दिन का समय सीमा बढ़ाने की मांग किया गया है। इसके लिए चतरा व पलामू के सांसद भी समय विस्तार के लिए प्रयत्नशील हैं। इसके अलावा उन्होंने कहा कि लगभग 31 किसानों का सुची चिन्हित की गयी है।  जो सौ किंव्टल से उपर धान अधिप्राप्ति केंद्र में दिया है। उक्त किसानों का आधार कार्ड की जांच करायी जा रही है। अनिश्चित कालीन आमरण अनशन में समाज सेवी सुभाष सिंह व किसान नवल किशोर सिंह,शामिल है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.