Type Here to Get Search Results !

बमंडीह आंगनबाड़ी के बच्चों को 5 वर्ष में भी नसीब नही हुआ अपना भवन_Mayurhand

लगभग राशि की हो गयी निकासी,भवन राह गया अधूरा मयूरहंड : प्रखंड के हुसिया पंचायत स्थित बमंडीह आंगनबाड़ी केंद्र का भवन पिछले पांच वर्षों से निर्माणधीन अवस्था मे पड़ा पड़ा खण्डहर होता जा रहा है। भवन का निर्माण केंद्र में अध्ययनरत बच्चों को लेकर कराया जा रहा था। भवन का निर्माण कार्य वर्ष 2016 में प्रारंभ कराया गया था। लेकिन पिछले पांच वर्षों के भवन की ढलाई ही पूर्ण हो पायी है। जबकि संवेदक के द्वारा प्राक्कलन से अधिक की निकासी करने का मामला प्रकाश में आया है। आंगनबाड़ी केंद्र का भवन का निर्माण लगभग छह लाख की लागत से किया जा रहा है। जिसमे मनरेगा से 4 12 324 की राशि व बाल विकास परियोजना से 2 लाख की लागत निर्गत की गयी है। जिसमे लगभग 4 लाख 68 हज़ार रुपये की निकासी संवेदक के द्वारा कर ली गयी है। ताजुब्ब की बात तो ये है कि संवेदक ने किसी डर भय के बिना ही सारी राशि की निकासी तक कर ली है। जानकारी के अनुसार भवन का निर्माण कुछ ही महीनों में करने की जवाबदेही संवेदक को दी गयी थी। परंतु पांच वर्ष का लंबा समय बीतने के बाद भी भवन का निर्माण अधूरा पड़ा है। भवन के अधूरे रहने से बच्चों को कभी भाड़े के मकान व अन्य स्थानो में पढ़ने को मजबूर होना पड़ रहा है। सेविका ने बताया कि भवन का निर्माण पूर्ण करने को लेकर कई बार मुखिया रेणु देवी से गुहार लगायी गयी है लेकिन आश्वाशन के सिवाय कुछ भी नही मिल पाया है। ग्रामीणों ने प्रखंड विकास पदाधिकारी साकेत कुमार सिन्हा से नए वर्ष में बच्चों को आंगनबाड़ी केंद्र का अपना भवन देने की मांग की है।। अब देखना ये होगा कि वर्ष 2022 में भी बच्चों को नया भवन मिल पाता है या नही।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.